कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड | evolution of computer in hindi - Trending Tech

Trending Tech

hello, friends, I am Jitendra kasotia welcomes you in our blog.Trending Tech Ek multimedia blog hai.we provide you top jio offers, latest tech news, facebook, youtube tips, and tricks,youtube updates, Instagram tips, mobile news, education, blogging tips, new app tips, Whatsapp tips,online money earning tips, science news, Gmail, pubg mobile lite, whats trend on google trend,pubg tips, miui 10 for redmi 6, Samsung mobile tips, windows 10 tricks ki help mil jayegi.

test banner

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, October 7, 2019

कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड | evolution of computer in hindi

कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड 

 कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड | evolution of computer in hindi,history of computer evloluton, Computer Ka Itihas Hindi, ये  सब आज  की पोस्ट में   जानेंगे  | 
कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड
कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड

डियर फ्रेंड्स एंड स्टूडेंट्स आवश्यकता ही आविष्कार की जननी होती है | चार्ल्स बैबेज को आधुनिक कंप्यूटर्स का फादर कहा जाता है |  कंप्यूटर्स को उनकी खोज के अनुसार और उनके कार्य करने की क्षमता के अनुसार 6 एवोल्यूशन से  में बांटा गया है:-

मार्क वन कंप्यूटर( 1937 टू 1944)

इसको सीरियल वाइज स्वचालित केलकुलेटर के नाम से जाना जाता है |यह पहेली स्वचालित कैलकुलेटिंग मशीन थी यह हावर्ड ainkam  के द्वारा डिजाइन की गई थी जो हावर्ड यूनिवर्सिटी में आईबीएम के साथ collabration कर रहे थे | यह इलेक्ट्रोमैकेनिकल डिवाइस थी|  जो पंच कार्ड के सिद्धांत के ऊपर निर्भर करती हैं  यह पांच प्रकार के ऑपरेशंस करने के लिए डिजाइन की गई थी | जोड़ना, घटाना, गुणा करना और डिवाइड करना यानी कि भाग देना और यह टेबल के अनुसार भी डिजाइन की गई थी |

कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड 

Atnasaff  बेरी कंप्यूटर्स (1939 to 1944)

डॉ जॉन atanasaff  ने इलेक्ट्रॉनिक मशीन को डेवलप किया था | जो मैथमेटिकल एरर्स को सॉल्व करती थी| इसके अंदर इन्होंने 45 वेक्यूम ट्यूब को यूज किया था ,जो इसमें इंटरनल लॉजिक और कंप्यूटर से और स्टोरेज को नियंत्रित करती है |

इएनआईएसी 1943 to 1946

द इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल inetergar  और केलकुलेटर स्कोर एनआईएसी टीम ने साथ में मिलकर तैयार किया था क्योंकि इसके मिलिट्री को बहुत जरूरत है, यह एक दीवार पर बहुत कम स्पेस में फिट हो जाता है यानी कि 20 बाई 40 स्क्वायर फीट में फिट हो जाता है | और इसके अंदर 1800vacuum  ट्यूब से यूज़ की गई थी यह दो नंबर को ऐड करने में 200 माइक्रोसेकंड लेता है और मल्टिप्लाई करने में यह 2000 माइक्रोसेकंड लेता है |

ईडीवीएसी 1946 टू 1952

Dr. john von nouman  ने एक नए डिवाइस की और प्रोग्राम की पहचान कराई जो इलेक्ट्रॉनिक सर्किट और वेरिएबल को ऑटोमेटिक यूज करता है कंप्यूटर में स्टोर प्रोग्राम को स्टोर करने के लिए उसको यूज किया गया था | उसको डिजाइन किया गया था यह सूचना और डेटा दोनों को बायनरी रूप में कंप्यूटर में स्टोर करता है और डेसिमल रूप में भी इस को बदल देगा जिससे कि मनुष्य को आसानी से पढ़ सकते थे | 

कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड 

ईडीएसी 1947 219

यह इलेक्ट्रॉनिक delay स्टोरेज और ऑटोमेटिक केलकुलेटर था | यह मशीन अपना पहला प्रोग्राम में run  करने के लिए मई 1949 में ऑपरेट की गई| यह जोड़ना ऑपरेशन को करने में 1500 माइक्रो seconds लेती है और गुणा करने वाले कार्य को करने में 4000 माइक्रोसेकंड लेती थी |

यू एन ए आई यू एस ए 1951

यूनिवर्सल ऑटोमेटिककंप्यूटर पहला डिजिटल कंप्यूटर था |यह एक साधारण कंप्यूटर नहीं था| यूएनआईएसी ने इसको कमर्शियल ीमाल किया था और उसको डिजिटल कंप्यूटर के रूप में घोषित किया था | उसको business साइंटिफिक एप्लीकेशन के लिए पूर्णतया बनाया गया |

कंप्यूटर का इतिहास और विकास कंपलीट गाइड 


स्टूडेंट एंड डिफरेंशियल कंप्यूटर के विकास से संबंधित कुछ जानकारियां थी |जो मुझे लगता है कि जरूर ye उपयोगी होगी और आप इनसे अपनी पढ़ाई को अच्छी तरह से कर पाएंगे आपको हमारी वेबसाइट या ब्लॉग पर आने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया

       Thanks for visiting
        trandingtech.com


1 comment:

Popular Posts

Post Top Ad

Responsive Ads Here